: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠

सेवा बस्ती को आदर्श बस्ती बना रही है सेवा भारती - आशा लकड़ा

सेवा भारती का बाल संगम कार्यक्रम संपन्नरांची, 08 जनवरी: सेवा भारती, रांची महानगर का बस्ती परिवर्तन योजना को मूर्त रूप देने के लिए 22वां वार्षिकोत्सव सह बाल संगम रांची के धुर्वा स्थित सरस्वती शिशु विद्या मंदिर प्रांगण में हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में रांची के 70 सेवा बस्तियों में चलने वाले संस्कार केंद्र के बच्चे, सिलाई प्रशिक्षण केंद्र की महिलाओं की सहभागिता रही। सेवा भारती के एक दिवसीय कार्यक्रम के दौरान बच्चों का आयु वर्ग के अनुसार 50 मीटर,100 मीटर का दौड़ एवं गोली चमच दौड़, सिलाई केंद्र की महिलाओं का समूह गीत प्रतियोगिताएं हुई । जहां प्रथम, द्वितीय, तृतीय का चयन पुरस्कार के लिए किया गया। स्वावलंबन समूह गीत प्रतियोगिता के निर्णायक टोली की डॉ सुजाता मजूमदार ,जे. पी. सिंह, नीलम वर्णवाल ने विजेता समूह को पुरस्कृत किया।

सेवा भारती का बाल संगम कार्यक्रम संपन्नसेवा भारती के बाल संगम के सार्वजनिक कार्यक्रम का उद्घाटन चिन्मय मिशन, रांची के आचार्य स्वामी परिपूर्णानंद जी एवं डा. आशा लकड़ा, महापौर, रांची ने भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया। मंचीय परिचय-स्वागत के उपरांत आचार्य वाहिनी एवं स्वावलंबन वाहिनी का घोष दल के साथ मार्च पास्ट हुआ। इस अवसर पर सेवा बस्तियों के बच्चों द्वारा सामूहिक ब्रह्मनाद,गायत्री मंत्र सरस्वती वंदना प्रस्तुती व योगासन का आकर्षक प्रदर्शन किया गया। मौके पर सेवा भारती, रांची महानगर के सचिव, श्याम टोरका ने संस्था के वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि समाज के वंचित, अभावग्रस्त बस्तियों में सेवा भारती के माध्यम से सांस्कारित शिक्षा,स्वास्थ्य, स्वावलंबन,सामाजिक सेवा आयामों के माध्यम से बस्ती परिवर्तन करने का सतत् प्रयास किया जा रहा है।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ.आशा लकड़ा ने कहा कि सेवा भारती सेवा कार्य के माध्यम से सेवा बस्ती को आदर्श बस्ती बनाने का महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। हमें अपने घर परिवार में भारतीय सभ्यता संस्कृति के अनुरूप रिश्ते नातों के नाम पुकारने के अभ्यास व संस्कार को विकसित करना होगा। साथ ही भारतीय खाद्यपदार्थों का सेवन करना चाहिए, देशी अन्न से ही हमारा तन और मन स्वस्थ रहनेवाला है। हमें विदेशी खाद्य पदार्थ से हमेशा दूरी बनाए रखना है। मौके पर आशा लकड़ा ने बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए एक कहानी के माध्यम से बच्चों को सदा सत्य बोलने और झूठ न बोलने की बात बताईं।

इस अवसर पर अपने आशीर्वचन में चिन्मय मिशन,रांची के आचार्य स्वामी परिपूर्णानंद महाराज ने कहा कि बच्चों में बाल मन से ही संस्कारों का बीजारोपण करने से सशक्त और संस्कारित समाज का निर्माण होता है। यही बच्चे बड़े होकर आगे चलकर के देश के नवनिर्माण में सहभागी बनते हैं।आज जन-जन में राष्ट्रीयता जागरण और नव चेतना जागृत करने की परम आवश्यकता है।

एक दिवसीय कार्यक्रम के खेल कूद प्रतियोगिता में 50 मीटर के दौड़ में संजीव कुमार, गांधीनगर,आयुष कच्छप, बड़गाईं, सूरज मुंडा, बरियातू,रोहित उरांव,सरना टोली, मयंक कुमार, हातमा बस्ती, संदीप उराव,अमृता उरांव,लेम बस्ती,खुशी गाड़ी,राखी कुमारी,रातू रोड,आस्था कुमारी, किशोरगंज,गोली चम्मच दौड़ में अभिमन्यु महली नामकुम,ओम कुमार,किशोरगंज विकास मुंडा,बरियातू सुमन कुमार,कृष्णापुरी परी कुमारी,विद्यानगर अदिति कुमारी,तुपुदाना को अतिथियों ने पुरस्कृत किया गया। मौके पर बाल संस्कार केंद्रों की शिक्षिकाओं की रस्सा कसी प्रतियोगिता हुई। मौके पर संस्कार केंद्र के बच्चों ने मनोहारी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर लोगों का मन मोह लिया। कार्यक्रम के दौरान बाल संस्कार केंद्र के बालक अभिषेक कुमार,बालिका तुलसी कुमारी व शिक्षिका मोनिका टोप्पो ने अपने अनुभव कथन प्रस्तुत किया।

अंत में धन्यवाद ज्ञापन सेवा भारती,रांची महानगर के अध्यक्ष चंद्रकांत रायपत ने किया जबकि कार्यक्रम का सफल संचालन मिथिलेश्वर मिश्र ने किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सेवा भारती के गुरुशरण प्रसाद,सेवा भारती के प्रांतीय संरक्षक ओमप्रकाश केजरीवाल,प्रांतीय अध्यक्ष प्रेम अग्रवाल, सचिव ऋषि पाण्डेय, सहसचिव राधेश्याम अग्रवाल,कोषाध्यक्ष अखिलेश्वर नाथ मिश्र, राजकुमार साहू, रामाकांत दुबे,अरुणा सिंह,कंचन प्रभा रामाशंकर बगड़िया, शुभेंदु भट्ट,बंटी सराफ, श्रवण जाजोदिया,कमल पोद्दार,विनोद टिबड़ेवाल उमाशंकर शर्मा, प्रवीण जोशी,पवन बजाज,कमल केडिया, सीमा सिंह, धुर्वा विद्यालय के उप प्राचार्य ललन कुमार,सुनिल पाण्डेय सहित शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।


LATEST VIDEOS

: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠 0651-2480502