: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠

जनजातीय समुदाय के लोगों में भी स्वाभिमान जागरण के कारण ‘‘मैं भी हिन्दू हूँ ’’ का बोध विकसित

जनजातीय समुदाय में स्वाभिमान जागरण के कारण  ‘‘मैं भी हिन्दू हूँ ’’ का बोध विकसित रांची, 21 अक्टूबर  : प्रान्त कार्यवाह श्री संजय कुमार ने बताया कि संगम नगरी में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में जनसंख्या असंतुलन, महिला सहभागिता, मतांतरण और आर्थिक स्वावलंबन जैसे महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई तथा संघ कार्यों को विस्तार प्रदान करने की विस्तृत कार्ययोजना के संबंध में विचार मंथन हुआ।

श्री संजय कुमार ने गुरुवार को यहां कहा कि आज जनजातीय समुदाय के लोगों में भी स्वाभिमान जागरण के कारण ‘‘मैं भी हिन्दू हूँ ’’ का बोध विकसित हुआ है।

संघ के कार्यवाह आज रांची में विश्व संवाद केंद्र के सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वाभिमान जागरण के कारण ही जनजातीय समुदाय के लोग अब संघ से भी जुड़ रहे हैं। संघ अपनी स्थापना के शताब्दी वर्ष में बहुत से आयामों में कार्य को गति प्रदान कर रहा है। कोरोना की विभीषिका के कठिन समय में भी संघ ने अपने कार्यों के आयामों में अभूतपूर्व प्रगति की है।

प्रान्त कार्यवाह ने कहा कि देश में जनसंख्या विस्फोट चिंताजनक है। इसलिए इस विषय पर समग्रता से व एकात्मता से विचार करके सब पर लागू होने वाली जनसंख्या नीति बननी चाहिए। उन्होंने कहा कि झारखंड में मतांतरण होने से हिंदुओं की संख्या कम हो रही है। राज्य के कई हिस्सों में मतांतरण की साजिश चल रही है। कुछ सीमावर्ती जिलों में घुसपैठ भी हो रही है। जनसंख्या असंतुलन के कारण कई देशों में विभाजन की नौबत आई है। भारत का विभाजन भी जनसंख्या असंतुलन के कारण हो चुका है । झारखंड में अपने जनजातीय बन्धुओं के अस्तित्व पर संकट खड़ा हो चुका है जिसके मूल में अवैध घुसपैठिए और मतांतरण है।

वर्ष 2024 के अंत तक झारखंड के सभी मंडलों में शाखा पहुंचाने की योजना बनाई गई है। उन्होंने बताया कि कुछ जिलों में यह कार्य चुनिंदा मंडलों में 99 प्रतिशत तक पूरा कर लिया है। प्रान्त कार्यवाह ने बताया कि देश में 54382 संघ की शाखाएं थी अब वर्तमान में 61045 शाखाएँ लग रही है। साप्ताहिक मिलन में भी 4000 और मासिक संघ मंडली में विगत एक वर्ष में 1800 की बढ़ोतरी हुई है। जबकि झारखंड में अभी 438 स्थानों पर 644 प्रतिदिन लगने वाली शाखा, 407 सप्ताह में एक दिन तथा 57 वैसे स्थान हैं जहां महीना में एक दिन शाखा लगती है। झारखण्ड में अभी कुल 24 जिले और 04 महानगर है । 24 जिलो के 1264 ग्रामीण मण्डल में 344 शाखायुक्त एवं 204 अपने सम्पर्कयुक्त है। 04 महानगरों के कुल 52 नगरों में 530 बसती है जिनमे 173 शाखायुक्त एवं 112 सम्पर्कयुक्त है। इस वर्ष अपने श्री गुरुपूर्णिमा कार्यक्रम कुल 2528 स्थानों पर सम्पन्न हुए जिनमे कुल 93501 स्वयंसेवक भाग लिए।

प्रान्त कार्यवाह ने बताया कि वर्ष 2025 में संघ की स्थापना के 100 वर्ष पूरे हो रहे हैं। इस निमित्त संघ कार्य के लिए समय देने के लिए देशभर में तीन हजार युवक शताब्दी विस्तारक के नाते निकले हैं। अभी एक हजार शताब्दी विस्तारक और निकलने है।

इस पत्रकार वार्ता मे क्षेत्र संघचालक मा. देवव्रत पाहन, सह प्रान्त संघचालक मा. अशोक श्रीवास्तव, प्रान्त प्रचारप्रमुख श्री धनंजय सिंह उपस्थित थे।


LATEST VIDEOS

: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠 0651-2480502